22 June 2020

सहायक शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा मामले में मोस्टवांटेड चंद्रमा यादव की तलाश के साथ ही उसके करीबियों पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरू हो गई

सहायक शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा मामले में मोस्टवांटेड चंद्रमा यादव की तलाश के साथ ही उसके करीबियों पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरू हो गई

इसके लिए स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) अब टीईटी-2019 परीक्षा का पेपर आउट कराने के मामले में पकड़े गए रेलकर्मी अमित यादव और संजय उर्फ उमेश, राजेंद्र यादव समेत अन्य लोगों से भी पूछताछ करेगी। कस्टडी रिमांड पर लिए गए शिक्षक भर्ती

फर्जीवाड़ा गिरोह के सरगना डॉ. केएल पटेल ने पूछताछ में इनके बारे में नई जानकारी दी थी। इसी आधार पर चंद्रमा की गिरफ्तारी पर जोर देते हुए उसके करीबियों पर शिकंजा कसने के लिए साक्ष्य संकलित किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि अशोक नगर निवासी संजय उर्फ उमेश उर्फ राकेश सिंह उर्फ गुरुजी बहुत ही शातिर है। उसने ही चंद्रमा यादव के प्रीतम नगर स्थित पंचमलाल आश्रम उच्चतर माध्यमिक विद्यालय से टीईटी का पेपर आउट कराने के लिए प्लान बनाया था। चंद्रमा के साथ उसे भी गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा में चंद्रमा यादव का नाम सामने आने के बाद उसे मोस्टवांटेड करार किया गया है, संजय समेत कई अन्य से उसके कनेक्शन की पड़ताल चल रही है। एसटीएफ अधिकारियों का कहना है कि केएल पटेल अपने गिरोह से जुड़े लोगों से फोन पर बहुत कम बात करता था। मिलने के लिए वह चंद्रमा, ललित त्रिपाठी, मायापति जैसे अन्य लोगों को अपने फूलपुर स्थित स्कूल में बुलाता था। ऐसे में स्कूल प्रबंधक और गैंग के दूसरे सदस्यों के बारे जानकारी जुटाने के लिए पुराने मामले के अभियुक्तों से पूछताछ की जाएगी। वहीं, एसटीएफ की दो टीम फरार चल रहे चंद्रमा यादव, मायापति दुबे, दुर्गेश पटेल व संदीप पटेल की गिरफ्तारी के लिए संभावित जगह छापेमारी कर रही है।

सहायक शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा मामले में मोस्टवांटेड चंद्रमा यादव की तलाश के साथ ही उसके करीबियों पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरू हो गई Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news