11 June 2020

69000 SHIKSHAK BHARTI में एसटीएफ की जांच में कई बड़े चेहरे भी बेनकाब हो सकते हैं

69000 SHIKSHAK BHARTI में एसटीएफ की जांच में कई बड़े चेहरे भी बेनकाब हो सकते हैं


नकल कराने वाले गैंग में शामिल शिक्षा माफिया, स्कूल प्रबंधक और सॉल्वर की गिरफ्तारी अभी बाकी है। शासन से आदेश मिलने के बाद बुधवार को प्रयागराज एसटीएफ इस फर्जीवाड़ा करने वाले गैंग के खुलासे में जुट गई है।


बताया जा रहा है कि 69000 सहायक शिक्षक भर्ती में अभी तक पुलिस ने उन्हीं लोगों की गिरफ्तारी की है, जिन्होंने अभ्यर्थियों से दलालों के माध्यम से रुपए लेकर फर्जीवाड़ा किया था। इसमें सिर्फ एक स्कूल का प्रबंधक ही पकड़ा गया है। आगे जांच होगी तो यह भी खुलासा हो जाएगा कि किन-किन परीक्षा केंद्रों पर अभ्यर्थियों को नकल कराने का इंतजाम किया गया था और इसमें सॉल्वर कौन थे, कहीं ऐसा तो नहीं की पिछली बार की तरह बदनाम कॉलेजों को परीक्षा केंद्र बनाया गया था। सूत्रों की मानें तो अगर इस तरह का कोई लिंक बना दो स्कूल प्रबंधक समेत कई बड़े अफसर भी जांच के घेरे में आ जाएंगे। इसमें कुछ सफेदपोश की मिलीभगत की बात भी सामने आई है। सोरांव पुलिस ने राजनीति से जुड़े डॉ कृष्ण लाल पटेल को पहले ही जेल भेज दिया है।

69000 SHIKSHAK BHARTI में एसटीएफ की जांच में कई बड़े चेहरे भी बेनकाब हो सकते हैं Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news