21 December 2020

Primary ka Master: परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत रसोइयों को 1000/1500 ₹ मानदेय दिए जाने पर हाईकोर्ट इलाहाबाद ने की तल्ख टिप्पणी, कहा- 1000₹ मानदेय पर काम कराया जाना है बंधुआ मजदूरी, संबंधित कोर्ट का फैसला हुआ अपलोड, करें डाउनलोड

Primary ka Master: परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत रसोइयों को 1000/1500 ₹ मानदेय दिए जाने पर हाईकोर्ट इलाहाबाद ने की तल्ख टिप्पणी, कहा- 1000₹ मानदेय पर काम कराया जाना है बंधुआ मजदूरी, संबंधित कोर्ट का फैसला हुआ अपलोड, करें डाउनलोड


🛑 फैसला अपलोड, करें डाउनलोड


✍️ रसोइयों को 1000/1500 ₹ मानदेय दिए जाने पर मा0 न्यायालय की तल्ख टिप्पणी


🟢 1000₹ मानदेय पर काम कराया जाना है बंधुआ मजदूरी

🟢 सरकार को न्यूनतम मजदूरी कानून के अनुसार मानदेय तय करने का आदेश

🟢 प्रति वर्ष हेतु नवीन तय मानदेय के अनुसार 14 साल की अवधि के अंतर का करना होगा भुगतान

 

🟢 04 माह में पूरी करनी होगी एरियर भुगतान की कार्यवाही

 

🟢 केवल याची ही नहीं प्रदेश के समस्त रसोइयों पर लागू होगा आदेश














 

Primary ka Master: परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत रसोइयों को 1000/1500 ₹ मानदेय दिए जाने पर हाईकोर्ट इलाहाबाद ने की तल्ख टिप्पणी, कहा- 1000₹ मानदेय पर काम कराया जाना है बंधुआ मजदूरी, संबंधित कोर्ट का फैसला हुआ अपलोड, करें डाउनलोड Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news