04 October 2020

शिक्षामित्रौ ने ज्ञापन सौंपा: 01 लाख 37 हजार शिक्षामित्रों के निरस्त समायोजन को पुनः बहाल किया जाये, महिला शिक्षा मित्रों को भी अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण का लाभ दिया जाये, अथवा महिला शिक्षामित्रों को पति के निवास स्थान के नजदीक विद्यालय में जाने का अवसर दिया जाये

शिक्षामित्रौ ने ज्ञापन सौंपा: 01 लाख 37 हजार शिक्षामित्रों के निरस्त समायोजन को पुनः बहाल किया जाये, महिला शिक्षा मित्रों को भी अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण का लाभ दिया जाये, अथवा महिला शिक्षामित्रों को पति के निवास स्थान के नजदीक विद्यालय में जाने का अवसर दिया जाये


चन्दौली 👉👉👉उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ के प्रान्तीय नेतृत्व के आव्हान पर 02 अक्टूबर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के जयन्ती के अवसर पर उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ जनपद चन्दौली द्वारा अपनी विभिन्न मांगों से सम्बन्धित मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के नाम एक ज्ञापन जिलाधिकारी चन्दौली को सौंपा।_
_इस दौरान शिक्षा मित्र संघ के *प्रान्तीय उप-संयुक्त मन्त्री हेमन्त मौर्या* ने कहा कि शिक्षामित्र प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में विगत 19 वर्षों से शिक्षण कार्य करते आ रहे हैं।शिक्षामित्रों का समायोजन सहायक अध्यापक पद पर हुआ था लेकिन कुछ कानूनी अड़चनों के कारण 25 जुलाई 2017 को माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द कर दिया गया था तब से शिक्षामित्रों की स्थिति बहुत ही दयनीय हो गई है। *मण्डल संगठन मन्त्री रामप्रवेश यादव* ने कहा कि शिक्षामित्रों को 10000(दस हजार)रुपये प्रतिमाह का मानदेय मिलता है जिस कारण इतने अल्प मानदेय में परिवार का भरण पोषण करना मुश्किल हो रहा है।जिस कारण अपने बच्चों व परिवार के भविष्य को लेकर मन बहुत ही व्यथित और सशंकित रहता है।
आज इस सदमें और अवसाद में आकर तीन हजार से अधिक शिक्षामित्रों ने मौत को गले लगा लिया है।और यह आत्महत्या और असामयिक मृत्यु का सिलसिला अभी भी जारी है।_
_तथा जिला प्रभारी चन्दौली राजेश शास्त्री व नि. जिला महमामन्त्री राजेश सिंह* ने मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार से प्रदेश के शिक्षामित्रों की समस्याओं को दृष्टिगत रखते हुए निम्नलिखित मांगों को निराकरण कर नव जीवन प्रदान करने का निवेदन किया है।-_

*1-* _माननीय आपके आदेशानुसार 26 जुलाई 2018 को उप-मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा की अध्यक्षता में शीर्ष स्तर पर गठित हाई पावर कमेटी की रिपोर्ट को सार्वजनिक कर लागू किया जाये।_
*2-* _शिक्षामित्रों के सेवा काल को 62 वर्ष व 11 माह के मानदेय की जगह 12 माह का सम्मान जनक वेतनमान प्रदान कर भविष्य सुरक्षित किया जाये।_
*3-* _नई शिक्षा नीति के तहत शिक्षा मित्रों के 19 वर्षों के अनुभव को देखते हुए प्री प्राइमरी में समायोजित किया जाये।_
*4-* _प्रदेश के मृतक तीन हजार से अधिक शिक्षामित्र परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाये।_
*5-* _मूल विद्यालय से वापसी से वंचित शिक्षामित्रों को पुनः अवसर प्रदान करते हुए मूल अथवा महिला शिक्षामित्रों को पति के निवास स्थान के नजदीक विद्यालय में जाने का अवसर दिया जाये।_
*6-* _महिला शिक्षा मित्रों को भी अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण का लाभ दिया जाये।_
*7-* _01 लाख 37 हजार शिक्षामित्रों के निरस्त समायोजन को पुनः बहाल किया जाये।

_*इस ज्ञापन/पत्रक कार्यक्रम में मुख्य रूप से नि.जिला महामन्त्री राजेश सिंह,नि.जिला कोषाध्यक्ष बृजेश कुमार मौर्य,नि.ब्लाक अध्यक्ष सकलडीहा रामकरन यादव,दामोदर गुप्ता,राजनारायण राय,आलोक गुप्ता,सन्तोष चौहान,बाबूलाल गुप्ता,बृज बिहारी सिंह,आशुतोष तिवारी,सीता देवी,किरन देवी,राधेश्याम प्रजापति,जयप्रकाश यादव,फैयाज अहमद, उदयनाथ आदि पदाधिकारी शिक्षामित्र उपस्थित रहे।*_

*_✍🏻सत्येन्द्र कुमार मीडिया प्रभारी_*
*_UPPSMS_*

शिक्षामित्रौ ने ज्ञापन सौंपा: 01 लाख 37 हजार शिक्षामित्रों के निरस्त समायोजन को पुनः बहाल किया जाये, महिला शिक्षा मित्रों को भी अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण का लाभ दिया जाये, अथवा महिला शिक्षामित्रों को पति के निवास स्थान के नजदीक विद्यालय में जाने का अवसर दिया जाये Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news