13 September 2020

माह से चल रहे प्रवेश में छात्र-छात्राओं की संख्या पिछले वर्षों की अपेक्षा काफी कम है। इसीलिए पंजीकरण की तारीखें दो बार बढ़ाई जा चुकी हैं, फिर भी तय नहीं है कि अपेक्षित छात्र-छात्राएं प्रवेश ले लेंगे।

कक्षा 9 व 11 में पंजीकरण और हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के परीक्षा फार्म भरे जाने से इम्तिहान की तैयारियां अधर में हैं


शैक्षिक सत्र आधा सत्र बीत रहा है, अभी कॉलेजों में प्रवेश चल रहा है। उत्तर प्रदेश माध्यमित शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) के 27 हजार से अधिक संबद्ध कॉलेजों में कक्षा 9 व 11 में पंजीकरण और हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के परीक्षा फार्म भरे जाने से इम्तिहान की तैयारियां अधर में हैं। वजह, परीक्षार्थियों की संख्या तय नहीं है। जुलाई माह से चल रहे प्रवेश में छात्र-छात्राओं की संख्या पिछले वर्षों की अपेक्षा काफी कम है। इसीलिए पंजीकरण की तारीखें दो बार बढ़ाई जा चुकी हैं, फिर भी तय नहीं है कि अपेक्षित छात्र-छात्राएं प्रवेश ले लेंगे।

यूपी बोर्ड में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं कराने का तय शेड्यूल रहा है। मुख्यालय में उसी के अनुसार वर्षभर कार्य चलता रहता है। सितंबर माह में आमतौर पर सभी कालेजों से आधारभूत सूचनाएं मांगी जाती रही हैं, ताकि उसी के अनुसार परीक्षा केंद्र निर्धारण किया जा सके। 2021 की परीक्षा के लिए अभी शुरुआत भी नहीं हो सकी है। यह जरूर है कि बोर्ड सचिव ने पिछले माह हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा कराने का अनुमानित माह घोषित किया है। उसके बाद से सारी प्रक्रिया ठप है। अक्टूबर में परीक्षा केंद्र निर्धारण नीति और नवंबर में केंद्र निर्धारण का कार्य पूरा होता रहा है।

अभी कंपार्टमेंट परीक्षा पर असमंजस : यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर परीक्षा 2020 में एक विषय में अनुत्तीर्ण होने वाले परीक्षार्थियों की कंपार्टमेंट परीक्षा होनी है। इसके लिए ऑनलाइन आवेदन लिए जा चुके हैं साथ ही शासन को परीक्षा तारीख तय करने के लिए प्रस्ताव भी भेजा गया है, अब तक तारीख का इंतजार हो रहा है।

तो दोगुने हो जाएंगे परीक्षा केंद्र : 2021 की हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा में यदि पिछले वर्ष की तरह ही परीक्षार्थी आवेदन करते हैं तो परीक्षा केंद्रों की तादाद दोगुनी हो जाएगी। शासन ने कुछ दिन पहले कोविड-19 को देखते हुए इस संबंध में सूचना मांगी थी। उसमें कहा गया कि पिछले वर्ष 7783 केंद्रों पर परीक्षा कराई गई थी, शारीरिक दूरी का अनुपालन करने में केंद्रों की संख्या दोगुनी करनी होगी।

इस माह के अंत तक पंजीकरण : यूपी बोर्ड प्रशासन फिलहाल कक्षा 9 से 12 तक प्रवेश व परीक्षा फार्म भरने में जुटा है। इस माह के अंत तक यह प्रक्रिया पूरी होने की उम्मीद है। उसके बाद ही परीक्षा की तैयारी शुरू होगी। वहीं, पढ़ाई ऑनलाइन कराई जा रही है।

माह से चल रहे प्रवेश में छात्र-छात्राओं की संख्या पिछले वर्षों की अपेक्षा काफी कम है। इसीलिए पंजीकरण की तारीखें दो बार बढ़ाई जा चुकी हैं, फिर भी तय नहीं है कि अपेक्षित छात्र-छात्राएं प्रवेश ले लेंगे। Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news