01 September 2020

ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए शिक्षकों को दीक्षा एप से मानव संपदा से लिक करना अनिवार्य, परिषदीय शिक्षकों के गले की फांस बना ऑनलाइन प्रशिक्षण, दीक्षा एप से मानव संपदा पोर्टल को करना है लिंक शासन के आदेश के बाद शिक्षकों की बढ़ी परेशानी

ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए शिक्षकों को दीक्षा एप से मानव संपदा से लिक करना अनिवार्य, परिषदीय शिक्षकों के गले की फांस बना ऑनलाइन प्रशिक्षण, दीक्षा एप से मानव संपदा पोर्टल को करना है लिंक शासन के आदेश के बाद शिक्षकों की बढ़ी परेशानी


Gorakhpur: परिषदीय शिक्षकों के गले की फांस बना ऑनलाइन प्रशिक्षण, दीक्षा एप से मानव संपदा पोर्टल को करना है लिंक शासन के आदेश के बाद शिक्षकों की बढ़ी परेशानी
दीक्षा एप से मानव संपदा पोर्टल को करना है लिंक शासन के आदेश के बाद शिक्षकों की बढ़ी परेशानी, शिक्षकों के गले की फांस बना ऑनलाइन प्रशिक्षण, गोरखपुर परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षित करने का शासन का फरमान उनके गले की फांस बन गया है जनपद में लगभग 30 फीसद शिक्षकों की उम्र
पचास से पचपन के आसपास है। यह शिक्षक न तो तकनीकी रूप से दक्ष है और न ही मोबाइल पर प्रशिक्षण में सक्षमा खासकर अधिकतर महिला शिक्षक ऐसी हैं जिनके लिए प्रशिक्षण में शामिल होना चुनौती है। चार दिन पूर्व शासन ने शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षित करने के लिए दीक्षा एप को मानव संपदा पोर्टल से लिंक का आदेश जारी कर दिया है। शिक्षकों को अब प्रशिक्षण प्राप्त करना होगा।

ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए शिक्षकों को दीक्षा एप से मानव संपदा से लिक करना अनिवार्य। इसके लिए एआरपी एकेडमिक रिसोर्स पर्सन) विद्यालयों में जाकर शिक्षकों को बता रहे हैं। यदि किसी को समस्या आ रही है तो उसका निदान किया जा रहा है। -बीएन सिंह, बीएसए

ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए शिक्षकों को दीक्षा एप से मानव संपदा से लिक करना अनिवार्य, परिषदीय शिक्षकों के गले की फांस बना ऑनलाइन प्रशिक्षण, दीक्षा एप से मानव संपदा पोर्टल को करना है लिंक शासन के आदेश के बाद शिक्षकों की बढ़ी परेशानी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news