04 September 2020

प्रदेश में पूर्व प्राथमिक से लेकर 12वीं तक पढ़ाने वाले शिक्षकों के चयन के लिए शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) अनिवार्य करने की तैयारी है

प्रदेश में पूर्व प्राथमिक से लेकर 12वीं तक पढ़ाने वाले शिक्षकों के चयन के लिए शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) अनिवार्य करने की तैयारी है



डीजी स्कूल विजय किरन आनंद ने नई शिक्षा नीति को लेकर जिलाधिकारियों को भेजे पत्र में इसको रेखांकित किया है। जिलों से शिक्षा नीति को लेकर 5 से 25 सितंबर तक पंचायतों तक अभियान चलाने को कहा गया है।

विजय किरन आनंद ने जिलों ने बेसिक शिक्षा विभाग की कार्ययोजना भी साझा की है। इसमें 2 करोड़ आउट ऑफ स्कूल बच्चों को पुनः स्कूलों तक लाना शामिल है। सरकारी व निजी स्कूलों में बच्चों के अधिगम स्तर तय करने के साथ ही 6वीं कक्षा से वोकेशनल एजुकेशन भी शुरू की जाएगी। 10वीं व 12वीं की वोर्ड परीक्षाओं के अलावा तीसरी, पांचवी व आठवीं कक्षा में भी परीक्षा आयोजित की जाएगी।

प्रदेश में पूर्व प्राथमिक से लेकर 12वीं तक पढ़ाने वाले शिक्षकों के चयन के लिए शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) अनिवार्य करने की तैयारी है Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news