31 July 2020

बेसिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा विभाग में शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच 31 जुलाई तक पूरी नहीं हो सकेगी, एक से दो माह का समय और लगने की उम्मीद

बेसिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा विभाग में शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच 31 जुलाई तक पूरी नहीं हो सकेगी, एक से दो माह का समय और लगने की उम्मीद


तीनों विभागों में जांच पूरी में होने में एक से दो महीने का समय और लगेगा। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में फर्जी शिक्षकों के मामले सामने आने पर 14 जून को बेसिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा विभाग के सभी शिक्षकों के शैक्षिक व अन्य जरूरी दस्तावेजों की जांच के आदेश दिए थे।

 इसके बाद तीनों विभागों ने हर जिले में अपर जिला मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में जांच कमेटी गठित कर 31 जुलाई तक जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए थे। मगर कोरोना महामारी के संकट में अपर जिला मजिस्ट्रेट अन्य कार्यों में व्यस्त हैं। वहीं, शिक्षकों ने अपने दस्तावेज भी जमा नहीं कराए हैं। इस तरह किसी भी जिले में जांच पूरी नहीं हुई है। सूत्रों का कहना है कि जांच में तीनों विभागों के सैकड़ों शिक्षकों के फर्जी मिलने की उम्मीद है। एक अधिकारी ने बताया कि मामला खुलने के भय से फर्जी शिक्षक दस्तावेज जमा नहीं करा रहे हैं।

बेसिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा विभाग में शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच 31 जुलाई तक पूरी नहीं हो सकेगी, एक से दो माह का समय और लगने की उम्मीद Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news