10 June 2020

स्कूली पाठ्यक्रम, पढ़ाई के घंटे कम करने पर मंथन: मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' का ऐलान

स्कूली पाठ्यक्रम, पढ़ाई के घंटे कम करने पर मंथन: मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' का ऐलान

मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' ने मंगलवार को ऐलान किया कि उनका मंत्रालय मौजूदा शिक्षा सत्र में स्कूली पाठ्यक्रम को छोटा करने और शैक्षिक घंटों को कम करने की योजना पर काम कर रहा है, ताकि कोविड-19 से हुए शैक्षणिक हानि की भरपाई की जा सके।


मंत्री ने इस बाबत अलग-अलग पक्षकारों से सुझाव मांगें हैं। केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट किया कि वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर, माता-पिता और शिक्षकों से काफी अनुरोध मिलने के बाद हम आने वाले शैक्षणिक वर्ष के लिए पाठ्यक्रम और शैक्षिक घंटों में कमी करने के विकल्प पर विचार कर रहे हैं। उन्होंने सभी शिक्षकों, शिक्षाविदों और शिक्षा विशेषज्ञों से इस पर अपने विचार साझा करने की अपील की। ‘निशंक' ने कहा कि लोग मंत्रालय या उनके ट्विटर और फेसबुक पेज पर ‘हैशटैग छात्रों के लिए पाठ्यक्रम 2020' का इस्तेमाल करें।

पाठ्यक्रम एक माह में तैयार होगा : सीबीएसई सीबीएसई के अध्यक्ष मनोज आहूजा ने बताया कि संस्थान ने शैक्षणिक नुकसान को पाटने के लिए पाठ्यक्रम को युक्तिसंगत करने पर काम शुरू कर दिया गया है और घटा हुआ पाठ्यक्रम एक माह में तैयार होगा।

स्कूली पाठ्यक्रम, पढ़ाई के घंटे कम करने पर मंथन: मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' का ऐलान Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news