11 June 2020

स्पेशल टॉस्क फोर्स ने शुरू की 69000 शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा की जांच:- लखनऊ से आदेश आने के बाद बनाई गई टीम, पूर्व छात्रनेता समेत कई सफेदपोश निशाने पर, कई जिलों में फैला गिरोह का नेटवर्क

स्पेशल टॉस्क फोर्स ने शुरू की 69000 शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा की जांच:- लखनऊ से आदेश आने के बाद बनाई गई टीम, पूर्व छात्रनेता समेत कई सफेदपोश निशाने पर, कई जिलों में फैला गिरोह का नेटवर्क


सहायक शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा मामले की जांच स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) ने शुरू कर दी है। अब गिरोह की मदद करने और फर्जीवाड़ा में प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से शामिल पूर्व छात्रनेता समेत कई सफेदपोश निशाने पर आ गए हैं। लखनऊ से आदेश आने के बाद बुधवार रात जांच के लिए एसटीएफ ने एक टीम बना दी है।



कहा जा रहा है कि सरगना पूर्व जिपं सदस्य केएल पटेल के गिरोह में कई सफेदपोश हैं। कुछ संरक्षण देते थे तो कई नौकरी लगवाकर अवैध कमाई भी करते थे।

गैंग का नेटवर्क भी कई जिलों तक फैला हुआ है। शिक्षक भर्ती में पास होने के लिए अलग-अलग शहर के अभ्यर्थियों ने पैसा दिया है। ऐसे में इन सबके बारे में जानकारी जुटाई जाने लगी है। फिलहाल मामले की जांच एसटीएफ के पास जाने से खलबली मच गई है।

फरार अभियुक्तों की तलाश में दबिश : मामले में नामजद आरोपित भदोही के मायापति दुबे और वांछित प्रतापगढ़ के दुर्गेश व संदीप पटेल समेत अन्य की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी करते हुए पुलिस ने अभियुक्त के करीबियों को शरण न देने की बात कहते हुए उन्हें चेतावनी दी है। कहा जा रहा है कि मायापति दुबे के जरिए ही केएल पटेल के हाथ में शिक्षक भर्ती व दूसरी परीक्षाओं का पर्चा आता था। मायापति भी चंद्रमा यादव की मदद से पेपर आउट करवाता था।

स्पेशल टॉस्क फोर्स ने शुरू की 69000 शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा की जांच:- लखनऊ से आदेश आने के बाद बनाई गई टीम, पूर्व छात्रनेता समेत कई सफेदपोश निशाने पर, कई जिलों में फैला गिरोह का नेटवर्क Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news