24 June 2020

केजीबीवी में शिक्षकों के प्रमाणपत्रों का सत्यापन 26 जून तक होना है लेकिन अनामिका कांड के बाद तीन ऐसे ही प्रकरण सामने आ चुके हैं

केजीबीवी में शिक्षकों के प्रमाणपत्रों का सत्यापन 26 जून तक होना है लेकिन अनामिका कांड के बाद तीन ऐसे ही प्रकरण सामने आ चुके हैं

अलीगढ़, फिरोजाबाद और फर्रुखाबाद में वेद कुमारी नामक शिक्षिका काम कर रही हैं। सहारनपुर, सीतापुर में रूबी और आजमगढ़ व जौनपुर में दीप्ति यादव के खिलाफ कार्रवाई हो चुकी

है।सहारनपुर, फतेहपुर व सीतापुर में रूबी नामक शिक्षिका के प्रमाणपत्र पर नौकरी का मामला पकड़ में आया है। इसमें बीएसए ने जांच में पाया कि फतेहपुर में असली रूबी कार्यरत है। रूबी फतेहपुर की ही पढ़ी हैं जबकि सीतापुर में 2019 में शिक्षिका नौकरी छोड़ कर जा चुकी है। यहां पर भी एफआईआर की तैयारी की जा रही है। वहीं सहारनपुर में एफआईआर हो चुकी है क्योंकि यहां सिद्ध हो चुका है कि डुप्लीकेट प्रमाणपत्रों के सहारे शिक्षिका ने नौकरी पाई थी। अलीगढ़, फिरोजाबाद और फर्रुखाबाद में वेद कुमारी नामक शिक्षिका के खिलाफ भी जांच जारी है। इसकी रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। वहीं कासगंज व कई अन्य जगहों पर भी फर्जी प्रमाणपत्र के सहारे नौकरी हासिल करने वालों की शिकायतें आ रही हैं। वहीं जौनपुर व आजमगढ़ में भी फर्जी शिक्षिका के खिलाफ कार्रवाई हो चुकी है। असली दीप्ति यादव अब भी बेरोजगार है।

केजीबीवी में शिक्षकों के प्रमाणपत्रों का सत्यापन 26 जून तक होना है लेकिन अनामिका कांड के बाद तीन ऐसे ही प्रकरण सामने आ चुके हैं Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news