23 May 2020

69000 SHIKSHAK BHARTI सुप्रीम कोर्ट लीगल अपडेट्स राघवेंद्र शिवेन्द्र एंड Others: ✍️ लीगल टीम

69000 SHIKSHAK BHARTI  सुप्रीम कोर्ट लीगल अपडेट्स राघवेंद्र शिवेन्द्र एंड Others: ✍️ लीगल टीम


69000 शिक्षक भर्ती  सुप्रीम कोर्ट  लीगल अपडेट्स  राघवेंद्र शिवेन्द्र एंड Others 🙏🚩🚩

💎न्यायालय की बहस की शुरुआत मुकुल रोहतगी जी ने की जिनकी बहस से असहमत कोर्ट ने लगभग याचिका खारिज कर दी थी पर उसके बाद भी लगातार सिमिलर मैटर थे इसलिए उनके बाद सुंदरम सर ने अपने तर्क पेश किए और सरकार द्वारा rules को तोड़ा गया है ये समझाने का प्रयास किया परन्तु कोर्ट ने इसपर सीधा और साफ कहा कि रूल्स सरकार को ये अधिकार देते हैं कि वह कुछ मामलों में अपने निर्णय स्वतः ले सकती है बशर्ते वह संघ के नियमों के ऊपर न जाएं ।इसके बाद दुष्यंत दवे सर ने भरसक प्रयास किया बीएड ट्रेनिंग और कटऑफ मामले को लेकर लेकिन वहां भी जज साहब ने स्पष्ट कहा कि मौजूदा कटऑफ पर ही काफी बच्चे पास हैं जिनमे 8000 से अधिक शिक्षामित्र भी हैं इसलिए कटऑफ ज्यादा है ये कहना न्यायसंगत नहीं है ।।

💎इसके बाद पी एस पटवालिया सर ने पुनः अपेंडिक्स 1 और और NCTE द्वारा किये गए संशोधन को ढाल बनाते हुए पोस्ट अपॉइंटमेंट ट्रेनिंग और प्री अपॉइंटमेंट ट्रेनिंग का जिक्र किया और इसपर स्टेट से जवाब मांगने के लिए बोला जिसमें जोड़ते हुए दवे सर ने कहा कटऑफ मामले को भी इसी प्रकार बाद में प्लेस किया गया है । न्यायालय पशोपेश में था और शिक्षामित्रों के वकील अंतरिम राहत के तहत स्टे की मांग कर रहे थे जिस पर टीम के अधिवक्ता ★AK सिन्हा★ सर ने बात पर रोकते हुए कोर्ट के समक्ष स्पष्ट किया कि DB का निर्णय ATRE परीक्षा के लिए है और 68500 परीक्षा सब्जेक्टिव थी और 69000 परीक्षा बहुविकल्पीय है,इस मौजूदा कटऑफ पर ही अभ्यर्थियों की संख्या पर्याप्त है इसलिए कटऑफ पर आपत्ति अनावश्यक है । इसके बाद तुषार मेहता सर दूसरे कोर्ट में व्यस्त थे वो वापस आये तो उनसे कुछ प्रश्न न्यायालय ने पूछे जिसपर उन्होंने एक दिन का समय मांगा लेकिन कोर्ट ने मना करते हुए स्पष्ट कहा कि ओपन कोर्ट में मामला सुनेंगे और सुनवाई की अगली तिथि 14 जुलाई 2020 नियत कर दी है ।

💎आदेश का विश्लेषण मात्र इतना है कि अगली सुनवाई 14 जुलाई है,स्टेट(सरकार) को हलफनामा दाखिल करना है जिसमे शिक्षामित्रों का सम्पूर्ण विवरण रखना होगा,ये कार्य 6 जुलाई तक करना रहेगा, इसके अलावा चूंकि प्रभावित पक्ष हम भी हैं इसलिए टीम भी आप सबकी ओर से पक्ष दाखिल करेगी और मिल रहे विपक्ष को मिल रहे भारांक पर भी चोट करेगी और उस भारांक के कारण कितना बड़ा नुकसान हो रहा है योग्यता का ये दिखाया जाएगा । शिक्षामित्र अपने पद पर कार्य करते रहेंगे उन्हें उसपर कोई डिस्टर्ब नहीं किया जाए । भर्ती का प्रोसेस गतिमान रहेगा मगर सुप्रीमकोर्ट के अधीन । ●स्टे नॉट ग्रांटेड😉● । टीम की तय रणनीति के हिसाब से SM का भारांक भी लपेटे में रहेगा और अन्य समस्त कोर्स के सफल अभ्यर्थियों का हित सुरक्षित रहे इसके लिए टीम पूर्ण प्रतिबद्ध है ।।

💎आप समस्त साथियों ने देखा विपक्ष ने अधिवक्ताओं की लंबी चौड़ी फौज के साथ हमला बोला था जिसका सीमित संशाधनों के साथ टीम ने सामना किया और बेहतर ढंग से बचाव करके परिणाम आप सबके सामने प्रस्तुत किया है । आप सबका यकीन बना रहा और आप सबने टीम का यथोचित साथ दिया तो अगली सुनवाई में और बेहतर पैनल के साथ विपक्ष पर धारदार हमले के साथ भारांक पर भी चोट होगी और टीम के पैनल में कुछ और नाम बढ़ेंगे क्योंकि अन्य लोगों और नामों के भरोसे बैठने से बेहतर है कि अपनी नौकरी की लड़ाई हम और आप दमदार तरीके से अपनी क्षमता पर लड़ें ।।

💎ओवरलैपिंग,MRC, समेत अन्य जितने वर्ग विभाजन जैसे बेफिजूल मुद्दों को हवा दे रहे लोगों से,
ऐसे समस्त अभ्यर्थियों को दूरी बना लेना है जो 69000शिक्षकभर्ती का जल्द से जल्द निस्तारण चाहते हैं और 90 97 पर सफल हैं ।
ऐसी चीजों को बढ़ावा देने वाले दो पक्ष के लोग हैं एक जो कह रहे हैं हम करवा के रहेंगे एक पक्ष है हम रोक कर रहेंगे इन दोनों पक्षो को दूर से राम राम बोलकर आगे बढिये और जून में नियुक्तिपत्र की राह प्रशस्त कीजिये । शिक्षकभर्ती पर कल तक जो सिंगल केस लादने के खिलाफ थे जो एक एक डेट लगने पर हमारी टीमों को गालियों से नवाजते थे आज वे सभी स्वयं आगे बढ बढकर भर्ती पर केस के बाद केस लाद रहे हैं अब ऐसे में वे सभी भर्ती के कितने शुभचिंतक हैं आप सब स्वयं तय करें और ऐसे समस्त लोगों से दूरी बनाकर एकजुट हो जाएं यदि भर्ती को सकुशल और शीघ्र सम्पन्न कराना चाहते हैं तो ।
■हमारी टीम का इन अनावश्यक मुद्दों से कोई लेना देना नहीं है हमारी टीम का एकमात्र प्रयास जल्द से जल्द नियुक्ति है ।।■

💎जो बीहड़ टीम कल आरोप लगा रही थी कि टीम की तरफ से अधिवक्ता नहीं थे आज वे सभी बिलों में दुबक गए हैं और कल उन्हीं बेशर्मों की बातों पर यकीन करने वाले साथियों ने भी आज ऑर्डर में स्पष्ट टीम का कार्य देखा और अधिवक्ता का जिक्र भी और कार्य भी ऑर्डर में दिखा है और आज के बाद टीम ऐसे किसी निकृष्ट आरोप पर कोई स्पष्टीकरण नहीं देगी यदि आप भरोसा जताते हैं तो यकीन रखिये टीम आपके भरोसे पर 💯% खरा उतरकर दिखाएगी । आगे से जब ऐसा कोई व्यक्ति करता दिखे तो दो बातें टीम की ओर से आप सुना देना खरी खरी😊🙏🏻

💎जो साथी टीम के साथ जुड़ चुके हैं उनका नाम केस में जोड़ने का कार्य प्रगति पर है, शेष ऐसे समस्त साथी जो अभी तक टीम के साथ नहीं जुड़े हैं 📲 8004007496 पर अपना नाम और जिला भेजकर पूरी प्रक्रिया की जानकारी ले सकते हैं और टीम के साथ व केस के साथ सीधा जुड़ सकते हैं ।।

💎मोबाइल नम्बर संशोधन के लिए टीम के साथी बेसिक शिक्षा निदेशालय लखनऊ में और बेसिक शिक्षा परिषद प्रयागराज में प्रयासरत हैं । उम्मीद है कि सफलता मिलेगी आप सब भी इसके लिए निजी प्रयास बढ़ा सकते हैं और अपने अपने क्षेत्रीय विधायकों व सांसदों से शासन को पत्र भिजवा सकते हैं जिसके बाद शायद शासन इस मामले का संज्ञान लें ।फिलहाल टीम के तमाम प्रयासों के बावजूद विभाग अब तक मौन साधे हुए है और संज्ञाशून्य है ।।

💎विपक्षी के ऑडियो और कुछ पुरानी भर्तियों के शिकारियों से स्वयं बचकर और इस भर्ती को बचाकर निर्विघ्न सम्पन्न कराने के लिए टीम को अन्य जगहों पर भी अपनी ऊर्जा लगानी पड़ सकती है जिसके लिए जरूरी है आप सब टीम से स्वयं यदि जुड़े हैं तो और साथियों को जोड़ें क्योंकि लगातार आंसर की विवाद, बैच अंदर बाहर और अन्य विवादों को हवा देने के काम मे अन्य लोग लगे हुए हैं वह कार्य किसी भी प्रकार से भर्ती हित मे नहीं है ऐसे लोगों को जवाब देने के लिए टीम को अपने साथ आप सबका समर्थन चाहिए उम्मीद है जल्द नियुक्ति की इच्छा रखने वाला हर व्यक्ति पूरे भरोसे के साथ टीम के साथ जुड़ा रहेगा ।।✍️




69000 SHIKSHAK BHARTI सुप्रीम कोर्ट लीगल अपडेट्स राघवेंद्र शिवेन्द्र एंड Others: ✍️ लीगल टीम Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news