07 June 2020

69000 SHIKSHAK BHARTI में फर्जीवाड़ा करने में तीन गिरफ्तार, टॉपरों की सूची में है शामिल राष्ट्रपति का नाम पता नहीं

69000 SHIKSHAK BHARTI में फर्जीवाड़ा करने में तीन गिरफ्तार, टॉपरों की सूची में है शामिल राष्ट्रपति का नाम पता नहीं


69000 सहायक शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़ा करने वाले शातिर अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद सोरांव पुलिस ने शनिवार को तीन अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया, जिन्होंने सेटिंग करके परीक्षा पास की थी। पकड़े गए आरोपी में 142 अंक पाने वाला अभ्यर्थी भी शामिल है। इस गैंग से जुड़े आरोपी मायापति समेत अन्य की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।

एएसपी अशोक वैंकट ने बताया कि शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़ा करने के आरोप में प्रतापगढ़ के राहुल सिंह ने सोरांव थाने में पूर्व जिला पंचायत सदस्य डॉ. कृष्ण लाल पटेल समेत आठ के खिलाफ 750000 रुपये लेकर फर्जीवाड़ा करने की एफआईआर कराई थी।

पुलिस ने मायापति को छोड़कर अन्य सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इसके अलावा कृष्णा पटेल की साथी ललित त्रिपाठी और भदोही के प्रधान श्रवण भी पकड़ा गया। पुलिस को आरोपियों के पास से मिली एक डायरी में 20 अभ्यर्थियों के नाम और नंबर थे। इसकी तफ्तीश के बाद शनिवार को पुलिस ने जौनपुर के विनोद कुमार फूलपुर के धर्मेंद्र कुमार और होलागढ़ के अमरनाथ को गिरफ्तार किया।

टॉपरों की सूची में है शामिल राष्ट्रपति का नाम पता नहीं

प्रयागराज। नाम: धर्मेंद्र कुमार पटेल। पता: सरायममरेज, प्रयागराज। काबिलियत: 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में टॉपरों की सूची में शामिल। कुल 150 में से 142 अंक हासिल किए। लेकिन देश के राष्ट्रपति का नाम उसे नहीं पता। यह हैरान करने वाली बात है, लेकिन यही सच है।

69000 SHIKSHAK BHARTI में फर्जीवाड़ा करने में तीन गिरफ्तार, टॉपरों की सूची में है शामिल राष्ट्रपति का नाम पता नहीं Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news