18 June 2020

69000 SHIKSHAK BHARTI: नहीं मिले तो इनामी होंगे चंद्रमा और मायापति, एसटीएफ और पुलिस की दबिश जारी, रिश्तेदारों और दोस्तों से पूछताछ


69000 SHIKSHAK BHARTI: नहीं मिले तो इनामी होंगे चंद्रमा और मायापति, एसटीएफ और पुलिस की दबिश जारी, रिश्तेदारों और दोस्तों से पूछताछ

शिक्षक भर्ती मामले में मोस्ट मोस्ट वांटेड चन्द्रमा यादव और मायापति दुबे व उनके साथियों की तलाश में एसटीएफ ने बुधवार को भी भदोही से लेकर कौशांबी तक कई जगह दबिश थी। उनके कई करीबी रिश्तेदारों और दोस्तों को पकड़ कर उनके बारे में तहकीकात की गई। सूत्रों का कहना है चंद्रमा और मायापति दुबे जल्द नहीं मिले तो उन पर इनाम घोषित किया जाएगा। इसके अलावा पुलिस और एसटीएफ सरगना केएल पटेल को कस्टडी रिमांड में लेने का प्रयास कर रही है। 


शिक्षक भर्ती मामले में पुलिस अब तक 11 लोगों को जेल भेज चुकी है। इसमें टॉपर समेत 2 छात्र भी शामिल  हैं। एसटीएफ ने परीक्षा में अधिक नंबर पाने वाले 16 छात्रों की सूची बनाई है। उनके बारें में भी जानकारी इकट्ठी की जा रही है। बुधवार को एसटीएफ और पुलिस ने भदोही, धूमनगंज और कौशांबी के कई इलाकों में दबिश दी। मायापति और चंद्रमा यादव तो नहीं मिले लेकिन उनके कई करीबी रिश्तेदारों और दोस्तों से पूछताछ की गई। उनके मोबाइल नंबर लिए गए। कॉल डिटेल्स देखी गई और यह पता लगाने का प्रयास किया गया कि आखिर वे कहां जा सकते हैं। कौन उन्हें पनाह दे सकता हैं।

चंद्रमा और मायापति के नंबरों को सर्विलांस पर  भी लगाया गया है। उनके सोशल मीडिया अकाउंट्स पर भी निगाह रखी जा रही है। पुलिस का कहना है कि पुलिस अपनी ओर से पुरा प्रयास कर रही है। अगर चंद्रमा और मायापति व उनके साथी नहीं मिले तो उन पर इनाम घोषित करने की कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में  अभी बहुत से खुलासे होने बाकी हैं। माना जा रहा है कि चंद्रमा यादव की गिरफ्तारी के बाद और कई खुलासे होंगे। हो सकता है कि कुछ सफेदपोशों के भी नाम सामने आएं। इसी कारण से पुलिस मुख्य सरगना डा. केएल पटेल की कस्टडी रिमांड का भी प्रयास कर रही है।

69000 SHIKSHAK BHARTI: नहीं मिले तो इनामी होंगे चंद्रमा और मायापति, एसटीएफ और पुलिस की दबिश जारी, रिश्तेदारों और दोस्तों से पूछताछ Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news