02 December 2019

परिषदीय विद्यालय के बच्चों को चप्पल सिलवाने भेजा, मैम के लिए सामान खरीदने बाजार जाने की बात बताई: प्रधानाध्यापिका निलंबित, महिला शिक्षामित्र हटाई गई

परिषदीय विद्यालय के बच्चों को चप्पल सिलवाने भेजा, मैम के लिए सामान खरीदने बाजार जाने की बात बताई: प्रधानाध्यापिका निलंबित, महिला शिक्षामित्र हटाई गई


अयोध्या (Ayodhya) जिले में बच्चों द्वारा महिला शिक्षामित्र (Shikshamitra) रजनी गुप्ता की चप्पल सिलवाने के मामले में News18 की खबर का बड़ा असर हुआ है. News18 पर खबर चलने के बाद बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष देव पांडे ने बीकापुर शिक्षा क्षेत्र के खजुरहट कन्या पाठशाला की प्रधानाध्यापिका रीना गुप्ता को सस्पेंड कर दिया है. वहीं आरोपी महिला शिक्षामित्र रजनी गुप्ता को पद से हटा दिया गया है.
तीनों बच्चों को मोची के पास भेज दिया
रजनी गुप्ता के खिलाफ जांच बैठा दी गई है. जांच टीम की रिपोर्ट आने के बाद इस मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी. नौनिहाल घर से पढ़ने के लिए स्कूल पहुंचे थे. स्कूल की शिक्षिका ने बच्चों को पढ़ाने-लिखाने के बजाय अपने काम के लिए बाहर भेज दिया. तीन नौनिहालों को एक प्लास्टिक के थैले में अपनी टूटी हुई चप्पल देकर सिलवाने के लिए मोची के पास भेज दिया.
रजनी गुप्ता के खिलाफ जांच बैठा दी गई है. जांच टीम की रिपोर्ट आने के बाद इस मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी. नौनिहाल घर से पढ़ने के लिए स्कूल पहुंचे थे. स्कूल की शिक्षिका ने बच्चों को पढ़ाने-लिखाने के बजाय अपने काम के लिए बाहर भेज दिया. तीन नौनिहालों को एक प्लास्टिक के थैले में अपनी टूटी हुई चप्पल देकर सिलवाने के लिए मोची के पास भेज दिया.

खजुरहट के परिषदीय विद्यालय का मामला
रास्ते में किसी को मामले की भनक लग गई और उसने नौनिहालों से बातचीत कर उनका वीडियो बना लिया. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह क्लिप चर्चा में है. मामला अयोध्या जनपद के शिक्षा क्षेत्र बीकापुर के खजुरहट स्थित परिषदीय विद्यालय का है. बेसिक शिक्षा महकमे से जुड़े स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों की ओर से पढ़ाई-लिखाई के इतर काम कराने का वीडियो अक्सर चर्चा में आता रहा है. कभी नन्हे-मुन्ने बच्चों से स्कूल में झाड़ू लगवाने, तो कभी टॉयलेट साफ कराने का मामला चर्चा में रहा है. जनपद में परिषदीय विद्यालय के बच्चों से काम कराने का एक और मामला प्रकाश में आया है.
मैम के लिए सामान खरीदने बाजार जाने की बात बताई

शिक्षा क्षेत्र बीकापुर के खजुराहट बाजार स्थित कन्या जूनियर स्कूल की शिक्षिका से जुड़े इस मामले में एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. वीडियो क्लिप में तीन बच्चे खड़े हैं. बीच में खड़े बच्चे के हाथ में एक प्लास्टिक का झोला है. रास्ते में मिला कोई शख्स बच्चों से सवाल करता है कि स्कूल टाइम में पढ़ाई-लिखाई के बजाय बच्चे कहां जा रहे हैं? जवाब में बच्चे की ओर से कहा जाता है कि वह रजनी मैडम के लिए बाजार जा रहा है. पहले तो वह सही बात बताने में आना-कानी करता है. फिर रजनी मैम के लिए सामान खरीदने बाजार जाने की बात का हवाला देता है. हालांकि बाद में वह साफ-साफ बताता है कि शिक्षिका ने उसको अपनी टूटी चप्पल सिलवाने के लिए भेजा है. हाथ में टंगे प्लास्टिक के झोले में रजनी मैम की टूटी हुई चप्पल है. बाजार जा रहे तीनों नौनिहाल खुद को कन्या जूनियर हाई स्कूल के तहत चलने वाले प्राथमिक विद्यालय का छात्र बता रहे हैं.

परिषदीय विद्यालय के बच्चों को चप्पल सिलवाने भेजा, मैम के लिए सामान खरीदने बाजार जाने की बात बताई: प्रधानाध्यापिका निलंबित, महिला शिक्षामित्र हटाई गई Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news