08 October 2019

कॉल न रिसीव करने पर 53 शिक्षकों का रुका वेतन, मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण से आई कॉल न रिसीव करने में 53 शिक्षक फंस गए हैं

कॉल न रिसीव करने पर 53 शिक्षकों का रुका वेतन, मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण से आई कॉल न रिसीव करने में 53 शिक्षक फंस गए हैं

कॉल न रिसीव करने पर 53 शिक्षकों का रुका वेतन
दैनिक अनुश्रवण प्रणाली के तहत नहीं दी एमडीएम बनने की सूचना

संसू, गोंडा : मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण से आई कॉल न रिसीव करने में 53 शिक्षक फंस गए हैं। अफसरों ने इसे लापरवाही मानते हुए संबंधित पर कार्रवाई की है। बेसिक शिक्षा अधिकारी ने इनका वेतन रोक दिया है। खंड शिक्षा अधिकारियों व शिक्षकों से स्पष्टीकरण तलब किया गया है।
जिले के 3211 स्कूलों में अध्ययनरत 3.43 लाख छात्रों के लिए दोपहर में भोजन की व्यवस्था है। इनके लिए हर दिन भोजन बनता है। मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण स्तर से दैनिक अनुश्रवण प्रणाली के माध्यम से मिड डे मील बनने की जानकारी ली जाती है। इसके लिए स्कूल में शिक्षक के पास कॉल आती है लेकिन, यहां 53 विद्यालयों से भोजन बनने की जानकारी नहीं दी गई, जिसमें से पांच शिक्षकों के मोबाइल नंबर सिस्टम पर दर्ज नहीं है। जबकि 48 ने कॉल रिसीव नहीं की। इससे यहां एमडीएम बना या नहीं, इसकी जानकारी नहीं हो सकी। प्रकरण में बीएसए को पत्र भेजकर अवगत कराया गया। लापरवाही बरतने के आरोप में बीएसए मनिराम सिंह ने बभनजोत व छपिया के एक-एक, बेलसर व परसपुर के चार-चार, कर्नलगंज, तरबगंज व पंडरीकृपाल के तीन-तीन, इटियाथोक व मनकापुर के दो-दो, झंझरी के आठ, रुपईडीह के 13 व वजीरगंज के नौ अध्यापकों को वेतन रोकने के साथ ही जवाब-तलब किया है।

कॉल न रिसीव करने पर 53 शिक्षकों का रुका वेतन, मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण से आई कॉल न रिसीव करने में 53 शिक्षक फंस गए हैं Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news