10 September 2019

प्रेरणा एप की वजह से निजता के हनन के साथ-साथ मानवता का भी हनन होगा, इसके अलावा भी कई नुकसान होगे, जाने कैसे इस पोस्ट को पढ़े

प्रेरणा एप की वजह से निजता के हनन के साथ-साथ मानवता का भी हनन होगा, इसके अलावा भी कई नुकसान होगे, जाने कैसे इस पोस्ट को पढ़े

  1. प्रेरणा ऐप की वजह से होगा निजता का हनन इसके साथ साथ मानवता भी होगी शर्मसार जाने किस तरह मानवता होगी शर्मसार
  2. यदि आप स्कूल जल्दी-जल्दी में है और जा रहे हैं उसी समय आपके पास फोन आता है कि पास वाले स्कूल के मैडम या सर का एक्सीडेंट हो गया है उस वक्त आप बहुत बड़े धर्म संकट में पड़ जाएंगे कि क्या करें स्कूल जाए या उनको अस्पताल लेकर जाएं या उनकी मदद करें आप अधिकांशत अपनी नौकरी बचाने का प्रयास करेंगे और स्कूल जाएंगे और इस तरह मानवता का हनन होने लगेगा क्योंकि एक टीचर ही ऐसा व्यक्ति है जो समाज में समाज के लोगों को उन्नति और मानवता का ज्ञान देता है यदि वही मानवता नहीं करेगा तो समाज में क्या मानवता रह जाएगी धीरे-धीरे मानवता समाज से समाप्त हो जाएगी
  3. कभी-कभी ऐसा होता है कि किसी टीचर को उसके स्कूल के आसपास के लोग व प्रधान उत्पीड़न करते हैं कभी उसके साथ मारपीट भी करते हैं उस अवस्था में वह पुलिस को और अपने साथियों को बुलाता है लेकिन जब वह साथियों को बुलाया जाएगा तो कोई भी साथी मदद के आगे नहीं आएगा क्योंकि उसको डर रहेगा उसका लोकेशन ट्रेस हो रहा है और उसकी नौकरी जाने का खतरा बना रहेगा इस तरह धीरे-धीरे टीचरों में कुंठा की भावना उत्पन्न हो जाएगी
  4. इस ऐप की वजह से मोबाइल में डाटा चोरी होने का भय हमेशा बना रहेगा
  5. यदि आप मोबाइल में नेट बैंकिंग और एटीएम कार्ड से खरीदारी करते हैं और यदि हैकर इस एप्लीकेशन हैक करके इस एप की मदद से आपके मोबाइल को हैक करके डाटा चुराता है तो आपका बहुत ज्यादा नुकसान होगा क्योंकि सभी मास्टर हैं और सभी लोग अपना बैंक अकाउंट और एटीएम का उपयोग अधिकांश अध्यापक जरूर करते होंगे जिससे उनका बैंक अकाउंट भी खाली होने का डर बना रहेगा
  6. एक टीचर को सेल्फी भेजने में लगभग 10 से 20 मिनट का समय लगेगा और दिन भर में 3 बार उसको सेल्फी भेजना है तो उसका 1 घंटे का समय नुकसान हो जाएगा इस तरह बच्चों की पढ़ाई 1 घंटे रोज नुकसान होगी
  7. उत्तर प्रदेश के अधिकांस विद्यालय गांव में है जिसके लिए एक शिक्षक को मुख्य सड़क से उतरने के बाद छोटी सड़कों का सहारा लेना पड़ता है कुछ टीचर को 1 किलोमीटर कुछ को 3 किलोमीटर कुछ को 5 किलोमीटर पैदल चलना पड़ता है उस अवस्था में यदि बारिश होने लगी या मौसम खराब हो गया तो उस टीचर को लेट होना तय है इस तरह उसको नौकरी का खतरा हमेशा बना रहेगा इसके साथ नाइंसाफी होगी, कितने टीचर को नदी नाव से पार करनी होती है वो तो नाविक से सहारे रहेगे जब वह उस पार लेकर जायेगा तभी वह टीचर नदी पार कर पायेगा और नाविक तभी उस पार जायेगा जब उसकी सवारी पूरी हो जायेगी।
  8. कितने ऐसे टीचर है जिनको मोबाइल यूज करना ही नहीं आता है वह केवल बटन वाला मोबाइल यूज़ करते हैं इसके अलावा उनको एंड्राइड मोबाइल यूज़ करने ही नहीं आता। वह कैसे अपना सेल्फी भेजेंगे उनके आगे बहुत बड़ी समस्या खड़ी हो गई है उनकी रातों की नींद गायब हो गई है वह धीरे-धीरे डिप्रेशन का शिकार होने लगेंगे
  9. कुल मिलाकर यह देखा जाए क्या शिक्षक चोर है कामचोर है वह अपना काम नहीं करता है नतीजा यह निकलता है कि वह कामचोर नहीं वह अपना काम करता है और ईमानदारी से करता है उसके बावजूद भी उसको बार-बार अग्नि परीक्षा देनी पड़ रही है
  10. आपको तो उत्तर प्रदेश की सड़कों के बारे में पूरी जानकारी है ही अधिकांश सड़कों पर जाम हमेशा लगा रहता है यदि आप टाइम से निकले और जाम में फस जाए तो भी स्कूल लेट होंगे और नौकरी जाने का खतरा बना रहेगा
  11. अधिकांशतः टीचर ऑटो रिक्शा व प्राइवेट बसों का उपयोग करती हैं और इन बसों और ऑटो रिक्शा वाले जब तक वह अपनी पूरी सवारी भर नहीं लेते तब तक वह नहीं चलते हैं चाहे उनको अपनी नौकरी की लाख दुहाई दे या उनका पैर पकड़े वह जब तक अपनी सवारी नहीं पूरी करेगे तब तक नहीं जाएंगे और इससे लेट होने का खतरा बना रहेगा अधिकांश महिलाएं ऑटो रिक्शा का उपयोग करती हैं। 
  12. अधिकांशत अध्यापकों को रास्ते में रोज कहा सुनी व लड़ाई लोगों से होगी क्योंकि कोई भी रास्ते में अपनी गाड़ी लगा देगा आपको लेट होने लगेगा आप चिल्लाने लगेंगे हो सकता है गाली गलौज हो जाए मारपीट हो जाए इसके लिए शिक्षक तैयार रहें। 
  13. अब बताता हूं कि इस एप्लीकेशन से सबसे बड़ी हानि होने क्या बाकी है या कह सकता हूं कि कुछ ही दिनों में आपको सबसे बड़ी हानि मालूम चल गई होगी आपने पेपर के माध्यम से शोसल मीडिया के माध्यम से यह बात जाना ही होगा कि आप शिक्षक जल्दी-जल्दी में सेल्फी देने के चक्कर में गाड़ियां तेज चला रहे हैं और लोगों को तेज चलाने के लिए बोल रहे हैं इससे एक्सीडेंट होने का खतरा बढ़ता जा रहा है। अभी एक-दो दिन पहले मालूम चला कुछ शिक्षक एक्सीडेंट में घायल हो गए हैं और कुछ शिक्षकों की मृत्यु हो गई है।
मित्रों UPTETNEWS.CO.IN ने इस एप्लीकेशन के बारे में छोटी सी बातों को बताने का प्रयास किया है, यह वेबसाइट शिक्षकों और बेरोजगारों के हमेशा उद्देश्य के लिए व उनकी सहायता के लिए तत्पर रहेगा

प्रेरणा एप की वजह से निजता के हनन के साथ-साथ मानवता का भी हनन होगा, इसके अलावा भी कई नुकसान होगे, जाने कैसे इस पोस्ट को पढ़े Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news