10 September 2019

गणित को छात्रों के लिए बनाएं रुचिकर, बीएसए कार्यालय सभागार में परिषदीय स्कूलों में बीईओ व एबीआरसी को सहयोगात्मक पर्यवेक्षण के गुर सिखाने के लिए कार्यशाला आयोजित की गई

गणित को छात्रों के लिए बनाएं रुचिकर, बीएसए कार्यालय सभागार में परिषदीय स्कूलों में बीईओ व एबीआरसी को सहयोगात्मक पर्यवेक्षण के गुर सिखाने के लिए कार्यशाला आयोजित की गई

प्रथम बैच में गणित की प्रकृति व आरंभिक अवस्था के विषय में बताया गया। इसके अलावा गणित के उद्देश्य बताए गए। छात्रों के लिए गणित को रुचिकर बनाने की सीख दी गई।
प्रशिक्षक सूर्यमणि पांडेय ने कहा कि शिक्षण का उद्देश्य व उसकी संरचना के आधार पर उसके प्रकृति का निर्धारण किया जाता है। सवाल पद व सूत्र आदि के जरिए हल किए जाते हैं। अध्ययन के विषय में बताया। आरंभिक अवस्था के विषय में बताते हुए कहा कि बच्चों के हिसाब से पढ़ाना।

परेशान न हों। आपस में चर्चा के लिए प्रोत्साहित करें। शिक्षण अधिगम सामग्री (टीएलएम) का प्रयोग करें। उन्होंने कहा कि सबसे पहले बच्चों को ठोस वस्तुओं के माध्यम पढ़ाएं। फिर चित्रों व अंत में प्रतीक के जरिए पढ़ाया जाए। पाठ्य योजना तैयार कराई गई। उस पर चर्चा की गई। प्रशिक्षक रमेश कुमार मिश्र ने विभिन्न जानकारियां दीं। बीईओ आरपी सिंह ने गतिविधि के माध्यम से पढ़ाने की सीख दी। कार्यशाला का शुभारंभ देवीपाटन मंडल के सहायक शिक्षा निदेशक विनय मोहन वन ने किया। चंद्रभान तिवारी, जिला समन्वयक राजेश सिंह, बीईओ जैनेंद्र कुमार, विभा सचान, सत्य प्रकाश, आनंद देव, भोला प्रसाद यादव, देव प्रकाश पांडेय, डायट प्रवक्ता ज्ञान बहादुर, विजय नारायण पांडेय व राखाराम गुप्त मौजूद रहे।

संवादसूत्र, बलरामपुर : बाल श्रम उन्मूलन जनपद समिति की बैठक सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में हुई। जिसमें जिले में संचालित विशेष प्रशिक्षण केंद्रों पर बाल श्रमिकों का नामांकन कराने के लिए दिशा निर्देश दिए गए। संचालन व उसमें आ रही बाधाओं पर चर्चा की गई।
अध्यक्षता कर रहे अपर जिलाधिकारी अरुण शुक्ल ने स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से संचालित, प्रस्तावित विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में कर्मचारियों की नियुक्ति करने का निदेशक परियोजना राष्ट्रीय बाल श्रम परियोजना को दिया। श्रम एवं रोजगार मंत्रलय से 24 विशेष प्रशिक्षण केंद्र स्वीकृत हैं, जिनका संचालन गुणवत्ता के साथ किया जाए। परियोजना निदेशक भूपेंद्र मिश्र ने कहाकि बालश्रम उन्मूलन समिति से 14 विशेष प्रशिक्षण केंद्रों का संचालन किया जा रहा है। दस विशेष प्रशिक्षण केंद्र प्रस्तावित हैं। 1052 बच्चों का सर्वे किया गया है, जिसमें 584 पात्र मिले हैं। इनमें से 517 बच्चों का विवरण पेंसिल पोर्टल पर अपलोड किया जा चुका है।

गणित को छात्रों के लिए बनाएं रुचिकर, बीएसए कार्यालय सभागार में परिषदीय स्कूलों में बीईओ व एबीआरसी को सहयोगात्मक पर्यवेक्षण के गुर सिखाने के लिए कार्यशाला आयोजित की गई Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news