10 September 2019

प्रेरणा एप के भविष्य के संभावित दुष्प्रभाव

प्रेरणा एप के भविष्य के संभावित दुष्प्रभाव

1-सभी प्रपत्र बनाना, सर्वे, गैर शैक्षणिक कार्य विद्यालय समय के बाद किये जायें।
2-अभिभावक संपर्क करते हुए विद्यालय समय के बाद सेल्फी लोड करें।

3-छात्रों की शैक्षिक सम्प्राप्ति (सीखने की प्रगति) के वीडियो/सेल्फी बनाकर
लोड करें।सभी जानते कुछ बच्चों को प्रतिदिन स्कूल लाना असंभव है।
4-अध्यापक पर की गई सभी कार्यवाही,क्रियाकलाप ऑनलाइन रहेगी अगर सरकार /विभाग  50 की उम्र के बाद या पहले लापरवाह ,नाकारा घोषित कर निकाल दे तो किसी भी कोर्ट से राहत नही मिलेगी।
5-इन्क्रीमेंट को, छात्र उपस्थिति और नामांकन से जोड़कर आपको इससे वंचित किया जा सकता है।
6- आज सरकार माह में 3 दिन की छूट की बात कह रही है, कल ये छूट वर्ष में 3 दिन भी हो सकती है।
7- पाँच या दस साल की इसी उपस्थिति को आधार बनाकर सरकार विभाग से छुट्टी भी कर सकती है, कोई कोर्ट राहत नही देगा,क्योंकि विभाग इसी आधार पर आपको लापरवाह बताएगा।
8- छात्रों को मिलनी वाली सुविधाऐं अगर उसकी उपस्थिति से जोड़ दी गयी तो अभिभावकों से मोर्चा कौन लेगा??


👉शिक्षक संघ कई गुटों में है इसलिए सरकार को कोई परवाह नही है।
👉एप्प में सेल्फी के कारण भविष्य में होने वाले किसी धरने के लिए कोई नही जाएगा, सरकार से अपनी जरूरी माँगे भी मनवाना सम्भव नही होगा।

प्रेरणा एप के भविष्य के संभावित दुष्प्रभाव Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news