13 September 2019

शिक्षकों ने ‘प्रेरणा’ एप समाप्त करने के लिए शासन के खिलाफ नारेबाजी की। शिक्षकों के विरोध के चलते बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों को उपस्थिति प्रमाणित करने के लिए ‘प्रेरणा’ एप पर सेल्फी का प्रावधान हटा दिया

शिक्षकों ने ‘प्रेरणा’ एप समाप्त करने के लिए शासन के खिलाफ नारेबाजी की। शिक्षकों के विरोध के चलते बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों को उपस्थिति प्रमाणित करने के लिए ‘प्रेरणा’ एप पर सेल्फी का प्रावधान हटा दिया

 वाराणसी : ‘प्रेरणा’ एप सहित 12 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रादेशिक प्राथमिक शिक्षक संघ ने गुरुवार को बीएसए दफ्तर पर धरना-प्रदर्शन किया।
शिक्षकों ने ‘प्रेरणा’ एप समाप्त करने के लिए शासन के खिलाफ नारेबाजी की। शिक्षकों के विरोध के चलते बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों को उपस्थिति प्रमाणित करने के लिए ‘प्रेरणा’ एप पर सेल्फी का प्रावधान हटा दिया। हालांकि, कायाकल्प के तहत विभिन्न योजनाओं की जानकारी शिक्षकों को अब भी ‘प्रेरणा’ एप पर देनी है। शिक्षक ‘प्रेरणा’ एप की व्यवस्था पूरी तरह से खत्म करने की मांग कर रहे हैं। शिक्षकों ने कहा कि जब तक ‘प्रेरणा’ एप समाप्त नहीं किया जाएगा। विरोध जारी रहेगा। धरने में शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह, जिला मंत्री कैलाश नाथ यादव, जितेंद्र पांडेय, सुनील सिंह, वीरेंद्र प्रताप सिंह सहित अन्य लोग शामिल थे। उधर वहीं विशिष्ट बीटीसी शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन ने 13 सितंबर को शास्त्री घाट पर धरना देने का निर्णय लिया है।

शिक्षकों ने ‘प्रेरणा’ एप समाप्त करने के लिए शासन के खिलाफ नारेबाजी की। शिक्षकों के विरोध के चलते बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों को उपस्थिति प्रमाणित करने के लिए ‘प्रेरणा’ एप पर सेल्फी का प्रावधान हटा दिया Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news