09 August 2019

यहां तो सवालों के घेरे में कायाकल्प, सरकार की मंशा है कि परिषदीय विद्यालयों का रंगरोगन कराकर कान्वेंट स्कूलों की तरह आकर्षक बनाया जाए

यहां तो सवालों के घेरे में कायाकल्प, सरकार की मंशा है कि परिषदीय विद्यालयों का रंगरोगन कराकर कान्वेंट स्कूलों की तरह आकर्षक बनाया जाए

गोंडा : सरकार की मंशा है कि परिषदीय विद्यालयों का रंगरोगन कराकर कान्वेंट स्कूलों की तरह आकर्षक बनाया जाए। जिससे स्कूल में बच्चों का ठहराव भी हो लेकिन, यहां के जिम्मेदार सरकार की मंशा पर पानी फेर रहे। छपिया ब्लॉक का प्राथमिक विद्यालय दरियापुर इसकी बानगी है।
चार माह पहले इस स्कूल में कायाकल्प योजना से सुंदरीकरण कार्य कराया गया। इसी की छत का प्लास्टर गिरने से आठ बच्चे घायल हो गए। जिले के कई विद्यालयों का ऐसा ही हाल है। इस विद्यालय भवन का निर्माण सन् 1990 में कराया गया था। उधर, ग्राम प्रधान राजेंद्र का कहना है कि छत के ऊपर मरम्मत का काम कराया गया है। छत के नीचे उनके द्वारा कोई कार्य नहीं कराया गया।

जांच कराकर करेंगे कड़ी कार्रवाई: जिलाधिकारी डॉ. नितिन बंसल, एसपी आरके नैयर, एसडीएम मनकापुर वीके प्रसाद, बेसिक शिक्षा अधिकारी मनिराम सिंह, बीईओ अजरुन वर्मा सहित अन्य आला अफसरों मौके पर पहुंचकर पूरे घटना की जानकारी ली। जिलाधिकारी ने कहा कायाकल्प के तहत कराए गए मरम्मत कार्य में कहां कमी रही, इसकी जांच बेसिक शिक्षा विभाग के साथ पंचायतीराज विभाग द्वारा कराई जाएगी। ग्राम प्रधान, ग्राम सचिव, शिक्षक व इससे जुड़े कौन लोग दोषी हैं, जांच कराकर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

यहां तो सवालों के घेरे में कायाकल्प, सरकार की मंशा है कि परिषदीय विद्यालयों का रंगरोगन कराकर कान्वेंट स्कूलों की तरह आकर्षक बनाया जाए Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news