11 August 2019

अवैध विद्यालयों की भरमार महकमा दिख रहा लाचार

अवैध विद्यालयों की भरमार महकमा दिख रहा लाचार

क्षेत्र में गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों की भरमार है। दर्जनों विद्यालय बिना मान्यता के चल रहे हैं। इन विद्यालयों पर नकेल लगाने वाले अधिकारी कार्रवाई में रुचि नहीं रहे हैं। मुकदमा दर्ज कराना तो दूर, विभाग का अभियान कागजों तक सिमटा है।
मुजेहना ब्लॉक में कुछ विद्यालय पांचवी तक मान्यता लेकर हाईस्कूल व इंटरमीडिएट तक कक्षाएं चलाते हैं। कई विद्यालय ऐसे हैं जिनकी चाहरदीवारी नहीं है लेकिन, उन्हें विभाग ने मान्यता दे दी है। क्षेत्र के जिगना बाजार मे छह, याकूबगंज में पांच, धानेपुर बाजार में 11, रेतवागाड़ा मे दो, धर्मेई में एक, अलावल देवरिया मे चार, आनंदनगर में तीन, रामनगर मे पांच, माधवगंज में तीन प्राइवेट विद्यालय संचालित हैं। इनके पास पांचवी तक मान्यता है लेकिन, कक्षाएं अधिक की चल रही हैं। इस तरह के मामले बीईओ रामराज के निरीक्षण में मिल चुके हैं।

नोटिस दी गई है लेकिन, कार्रवाई शून्य है।जागरण टीम ने ऐसे विद्यालयों की टोह ली तो विभाग की हकीकत सामने आई।

ग्राम पंचायत रुद्रगढ़नौसी के सपहा गांव के समीप केपीएच पब्लिक स्कूल जुलाई माह मे संचालित है। विद्यालय में चार कमरे बने हैं। अव्यवस्था के बीच हाईस्कूल तक शिक्षा दी जा रही है। प्रधानाचार्य हंसराज वर्मा ने बताया कि पांचवी कक्षा तक मान्यता विभाग द्वारा मिली है लेकिन, कक्षाएं अधिक की संचालित हैं। तेदुवामोहनी गांव के समीप सावित्री ज्ञान विधा पीठ संचालित है। प्रधानाचार्य विनय कुमार ने बताया कि विद्यालय की मान्यता पांचवी कक्षा तक प्राप्त है लेकिन, कक्षाएं आठवीं तक चल रहीं हैं।

जिम्मेदार के बोल: बीईओ रामराज ने बताया कि अमान्य विद्यालयों को चिन्हित कर लिया गया है। अमान्य विद्यालयों को बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। मुजेहना में 28 अमान्य विद्यालयों को नोटिस दी गई है, उसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

अवैध विद्यालयों की भरमार महकमा दिख रहा लाचार Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news