बुधवार, 13 फ़रवरी 2019

चुनाव बाद बहेगी तबादलों की बयार, शिक्षकों को जिले के अंदर व दूसरे जिलों में जाने के लिए अभी इंतजार करना होगा

चुनाव बाद बहेगी तबादलों की बयार, शिक्षकों को जिले के अंदर व दूसरे जिलों में जाने के लिए अभी इंतजार करना होगा

प्रयागराज : शिक्षकों को जिले के अंदर व दूसरे जिलों में जाने के लिए अभी इंतजार करना होगा। शैक्षिक सत्र के कारण फिलहाल किसी तरह का फेरबदल होने की उम्मीद नहीं है। सत्र पूरा होने पर लोकसभा चुनाव की आचार संहिता प्रभावी होने से तबादले अब चुनाव के बाद ही हो सकेंगे।
बेसिक शिक्षा परिषद के अधिकांश शिक्षक लंबे समय अंतर जिला तबादला व जिले के अंदर समायोजन व स्थानांतरण की राह देख रहे हैं। इसकी वजह यह है कि पिछले वर्ष 13 जून को अंतर जिला तबादलों में आवेदन करने वालों में से सिर्फ एक चौथाई का ही मनचाहा तबादला हो सका था। विभागीय अफसरों ने अंतर जिला तबादले की दूसरी सूची जारी होने की उम्मीदें जगाई थी लेकिन, वह भी परवान नहीं चढ़ सकी। यही नहीं हाईकोर्ट के दखल से जिले के अंदर समायोजन व स्थानांतरण की नीति खारिज हो गई। यह नौबत लगातार दूसरे वर्ष आई है। शिक्षकों को उम्मीद थी कि नए वर्ष पर सरकार तबादला शुरू कर सकती है लेकिन, सत्र के मध्य में ऐसा करने से अफसरों ने हाथ खड़े कर दिए।

इसके अलावा परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 69 हजार शिक्षकों की नई नियुक्तियां होनी है साथ ही 68500 भर्ती की दूसरी चयन सूची जारी होना है। इन भर्तियों में खाली तमाम पद भर जाएंगे। इस दौरान तबादले होने से नियुक्तियों का कार्य प्रभावित होता। ऐसे में संकेत हैं कि परिषदीय स्कूलों में तबादले चुनाव बाद ही होंगे। वहीं, माध्यमिक कालेजों में भी फिर ऑनलाइन तबादले होंगे। उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा इस संबंध में पहले ही निर्देश जारी कर चुके हैं कि तबादले गर्मी की छुट्टियों में ही किए जाएंगे, क्योंकि इन दिनों यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर की परीक्षाएं चल रही हैं उसके बाद जिलों में मूल्यांकन और रिजल्ट तैयार करने का कार्य शुरू होगा। यह पूरा होते लोकसभा चुनाव आ जाएगा।

चुनाव बाद बहेगी तबादलों की बयार, शिक्षकों को जिले के अंदर व दूसरे जिलों में जाने के लिए अभी इंतजार करना होगा Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news