18 February 2019

69000 SHIKSHAK BHARTI मामले की सुनवाई के दौरान एक नया कारनामा आया सामने: पढें टीम सीतापुर और रिजवान टीम की कलम से आखिर क्या हुआ था

69000 SHIKSHAK BHARTI मामले की सुनवाई के दौरान एक नया कारनामा आया सामने: पढें टीम सीतापुर और रिजवान टीम की कलम से आखिर क्या हुआ था


एक और कारनामा चंद्रा का किसी गोपनीय दस्तावेज को एक मे चिपका दिया जिसका अपने तरफ विरोध हो रहा है!!*

 *सरकारी वकील चन्द्रा कुछ गोपनीय पेपर फाइल में लगा कर दिया जो चिपका हुआ था इस पर एडवोकेट उपेन्द्र नाथ मिश्रा जी कोर्ट से कहा इसी चोरी की बजह से सी बी आई जाँच का आर्डर हुआ था। सरकारी बकील धोखा देकर काम कराना चाहते हैं इसका जोर दार बिरोध कर रहे हैं उपेन्द्र नाथ मिश्रा जी एल पी मिश्रा जी आखिर क्यों पेज को चिपकाया गया किस लिए चिपकाया गया!!*                                               .
 *कोर्ट को चन्द्रा की फालतू बात सुनना ही नही चाहिये जिस जिस सवाल का जबाब कोर्ट ने उनसे मांगा था सिर्फ वही जबाब सुनकर फैसला दे देना !!*                            *अनुभाग 5 बे० शि० विभाग का है,जबकि आर्डर मे 4 लिखा था उस् प र अलग से पेज चिपकाकर 60/65 का आर्डर लिखा गया है!!*
*सरकार का नया कारनामा ,7 जनवरी के आर्डर मे फ्राड पकडा गया!!*
*डा एल पी मिश्रा सर ने जो प्रश्न पालिसी मैटर पर किया था उसी पर सरकार पेपर चिपकाकर लगायी थी जो फ्राड पकड़ा गया अब ईश्वर ही मालिक है!!*.                          👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆   
                        *(SITAPUR TEAM)

69000 SHIKSHAK BHARTI मामले की सुनवाई के दौरान एक नया कारनामा आया सामने: पढें टीम सीतापुर और रिजवान टीम की कलम से आखिर क्या हुआ था Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news