बुधवार, 26 दिसंबर 2018

मुद्दा पुरानी पेंशन: आधी आबादी(मातृशक्ति) का साथ हो,पुरानी पेंशन बहाल हो।। ✍अशोक द्विवेदी प्रयागराज

मुद्दा पुरानी पेंशन: आधी आबादी(मातृशक्ति) का साथ हो,पुरानी पेंशन बहाल हो।। ✍अशोक द्विवेदी प्रयागराज

जब किसी राष्ट्र की आधी आबादी यह समझ लेती है कि उसे कोई काम नहीं करना है, क्योंकि बाकी आधी आबादी उसकी देख-भाल जो कर रही है और बाकी आधी आबादी यह सोच कर कुछ अच्छा कार्य नहीं कर रही कि उसके कर्म का फल किसी दूसरे को मिल रहा है – तो वहीँ उस राष्ट्र के अंत की शुरुआत हो जाती है।_*

बिल्कुल यही उपर्युक्त यथार्थ पुरानी पेंशन के संदर्भ में प्रतीत हो रहा है। अभी भी पुरानी पेंशन के लिए आंदोलन में भागीदारी पूर्णरूपेण सुनिश्चित नही हो पा रही है। और एकता की कमी देखी जा रही है। कुछ चंद लोग इस मुहिम को अलग थलग करने के प्रयास में लगे हुए है। इतिहास गवाह है जो भी सफलता आपने देखी है उसमे एकाग्रता,एकता ,धैर्य के रथ पर सवार होकर ही सफलता मिली है।
*मातृशक्ति* का इस आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इस मुहिम में सभी शिक्षिकाओ का साथ मे आना निहायत जरूरी है। आज जब राष्ट्र के विकाश में नारी शक्ति का महत्वपूर्ण योगदान है तो फिर नौकरी कर रही शिक्षिकाओं के लिए अपने जीवन के बुढापे की लाठी के लिए एक साथ आकर इस लड़ाई में बराबर की भूमिका में कार्य करना होगा। शुरुआत हो चुकी है।🙏🙏✍ *👉अब जो भी आंदोलन हो पुरानी पेंशन बहाली के लिए उसमे निवेदन करना चाहूंगा उन भाइयो से जिनकी धर्मपत्नी शिक्षिका है साथ मे लेकर अवश्य धरने में प्रतिभाग करें।* इससे पुरानी पेंशन बहाली की मुहिम को शत प्रतिशत बल मिलेगा।। आज राष्ट्र के हर फील्ड में नारी शक्ति के योगदान को भुलाया नही जा सकती। जिस शिद्दत और इमानदारी से नौनीहालों के प्रति अपनी कर्तब्यनिष्ठा का परिचय दे रही है आशा और उम्मीद है इसी विस्वास के साथ पुरानी पेंशन के प्रति भी अपनी भूमिका प्रस्तुत करें। और फिर क्यूँ पुरानी पेंशन का मुद्दा जो इस  समय अपने चरम पर है ,पीछे रहे।  सब  लोग धरने  में  आएं  और  आगे  चल रहे  अपने  साथियों  का  साथ देकर  पुरानी  पेंशन  बहाल  कराने  में  अपनी  अहम  भूमिका  का  निर्वहन करें। पुरानी पेंशन की इस लड़ाई में अब मिशाल बनना है।
*मातृशक्ति को  सादर  नमन🙏🙏✍*
*आपका साथी*
     *अशोक द्विवेदी प्रयागराज*
*वि.ख. कोरांव9452965245*
          *जनपद प्रयागराज*

मुद्दा पुरानी पेंशन: आधी आबादी(मातृशक्ति) का साथ हो,पुरानी पेंशन बहाल हो।। ✍अशोक द्विवेदी प्रयागराज Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news