शनिवार, 12 मई 2018

UPPSC: दागियों को परीक्षा कार्यक्रमों से दूर रखे आयोग, दूसरी छमाही का परीक्षा कैलेंडर जारी करने की मांग

UPPSC: दागियों को परीक्षा कार्यक्रमों से दूर रखे आयोग, दूसरी छमाही का परीक्षा कैलेंडर जारी करने की मांग

उप्र लोकसेवा आयोग से 2018 की दूसरी छमाही का परीक्षा कैलेंडर जारी होना है, जबकि कई अधिकारी व कर्मचारियों का सीबीआइ के फंदे में फंसना तय है। ऐसे में परीक्षा कैलेंडर निर्धारित करने से पहले इसे ध्यान में रखने के लिए आयोग के सचिव से मांगी है। कहा है कि आयोग के जो भी अफसर और कर्मचारी फंस रहे हैं उनको आगामी परीक्षाओं से दूर रखते हुए ही कार्यक्रम निश्चित किए जाएं।1प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति के मीडिया प्रभारी अवनीश पांडेय ने सचिव को पत्र देकर कहा है कि परीक्षाओं तिथि निर्धारण में हंिदूी भाषा अभ्यर्थियों की समस्या व अन्य राज्यों के आयोग और यूपीएससी से प्रस्तावित परीक्षा तारीखों पर मंथन कर लें, ताकि उप्र आयोग और अन्य राज्यों के आयोग से होने वाली परीक्षाओं की तारीखें टकराने की समस्या का सामना न करना पड़े।
पूर्व दागी कर्मियों से न लें काम : परीक्षाओं को कराने में कोई बाधा न आने पाए इसलिए आयोग कई पूर्व कर्मियों/अधिकारियों से शासन की अनुमति पर काम लेने के प्रयास में है। अवनीश पांडेय ने कहा है कि सेवानिवृत्त हो चुके कई कर्मचारी और अधिकारी भी सीबीआइ जांच के दायरे में हैं। सूचना के अधिकार अधिनियम 2005 का समुचित पालन सुनिश्चित कराएं। सूचनाओं को बिंदुवार ही दें तथा भ्रामक सूचनाएं न दी जाएं।
प्रोफेसर रिपर्टरी का परिणाम जारी : आयोग ने राजकीय होम्योपैथिक मेडिकल कालेज उप्र के अंतर्गत प्रोफेसर रिपर्टरी का परिणाम शुक्रवार को जारी कर दिया। 2014-15 में विज्ञापित चार पदों (एक पद ओबीसी, एक पद अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित) पर सीधी भर्ती से चयन के लिए 27 अप्रैल को साक्षात्कार कराया था। अभ्यर्थी उपलब्ध न होने से रिक्तियां अनभरी रह गईं। हाईकोर्ट की ओर से 24 अप्रैल 18 को पारित अंतरिम आदेश के अनुपालन में एक अनारक्षित रिक्ति का चयन परिणाम घोषित नहीं किया गया।

UPPSC: दागियों को परीक्षा कार्यक्रमों से दूर रखे आयोग, दूसरी छमाही का परीक्षा कैलेंडर जारी करने की मांग Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news