रविवार, 13 मई 2018

2016 के विज्ञापन में जोड़ी जाए रिक्त सीटें

2016 के विज्ञापन में जोड़ी जाए रिक्त सीटें

माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड उप्र इधर के दो वर्षो में खाली हुए पदों का अधियाचन भेजने का निर्देश दे रहा है। नई मांग जोड़ने वालों का कहना है कि नया विज्ञापन निकालने की जगह 2016 के विज्ञापन में ही यह सीटें जोड़ी जाएं, ताकि अधिक का चयन हो। चयन बोर्ड अध्यक्ष वीरेश कुमार ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश दिया था कि 2016 के लिए अधियाचन का सत्यापन करके रिपोर्ट दें, नए अधियाचन ऑनलाइन भेजे जाएं। प्रतियोगियों का कहना है कि 2016 की लिखित परीक्षा नहीं हुई है और अधियाचन का सत्यापन भी हो रहा है इसी में नए रिक्त पद भी जोड़े जाएं। जो पद 2017 या 2018 मार्च में रिक्त हुए वह 2016 के विज्ञापन में कैसे जुड़ सकते हैं, फिर भी अधिक प्रतियोगियों के जल्द चयन का दबाव बनाया जा रहा है। यही नहीं प्रतियोगी मोर्चा भी 2011 के लंबित रिजल्ट घोषित करने की मांग कर रहा है। यह पूरी न होने पर आंदोलन छेड़ने का अल्टीमेटम दिया गया है।राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड उप्र इधर के दो वर्षो में खाली हुए पदों का अधियाचन भेजने का निर्देश दे रहा है। नई मांग जोड़ने वालों का कहना है कि नया विज्ञापन निकालने की जगह 2016 के विज्ञापन में ही यह सीटें जोड़ी जाएं, ताकि अधिक का चयन हो। चयन बोर्ड अध्यक्ष वीरेश कुमार ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश दिया था कि 2016 के लिए अधियाचन का सत्यापन करके रिपोर्ट दें, नए अधियाचन ऑनलाइन भेजे जाएं। प्रतियोगियों का कहना है कि 2016 की लिखित परीक्षा नहीं हुई है और अधियाचन का सत्यापन भी हो रहा है इसी में नए रिक्त पद भी जोड़े जाएं। जो पद 2017 या 2018 मार्च में रिक्त हुए वह 2016 के विज्ञापन में कैसे जुड़ सकते हैं, फिर भी अधिक प्रतियोगियों के जल्द चयन का दबाव बनाया जा रहा है। यही नहीं प्रतियोगी मोर्चा भी 2011 के लंबित रिजल्ट घोषित करने की मांग कर रहा है। यह पूरी न होने पर आंदोलन छेड़ने का अल्टीमेटम दिया गया है।

2016 के विज्ञापन में जोड़ी जाए रिक्त सीटें Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news