रविवार, 15 अप्रैल 2018

UP BOARD: किताबों के साथ गाइड बेचने पर दर्ज की जाएगी एफआइआर , किस कक्षा की किताब कितने में

UP BOARD: किताबों के साथ गाइड बेचने पर दर्ज की जाएगी एफआइआर , किस कक्षा की किताब कितने में

यूपी बोर्ड ने छात्र-छात्रओं को सस्ती दरों पर किताबें मुहैया कराने का जो कदम उठाया उस पर पुस्तक विक्रेता पानी फेर रहे हैं। बोर्ड सचिव ने सख्त हिदायत दी है कि किताबों के साथ जबरन गाइड बेची गई तो संबंधित के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराएंगे। शासन व बोर्ड सचिव ने अधिकृत प्रकाशकों को निर्देश जारी कर दिए हैं। वहीं, प्रदेश भर के जिलाधिकारियों को अलग से पत्र भेजने की तैयारी है। 1बोर्ड सचिव ने शनिवार को पत्रकारों से कहा कि प्रदेश सरकार पहली बार बेहद सस्ती दरों पर बाजार में किताबें मुहैया कराने में सफल हुई है लेकिन, पुस्तक विक्रेता छात्र-छात्रओं व अभिभावकों को किताबों के साथ जबरन गाइडें बेचने की सूचनाएं मिल रही हैं। यह स्वीकार्य नहीं है। कड़े निर्देश दिए गए हैं कि यदि किताबों के साथ सहायक पुस्तकें बेची गई तो उसके विरुद्ध कठोर कार्रवाई करेंगे। सचिव ने कहा कि जल्द ही डीएम को पत्र भेजकर कहेंगे कि शिकायत मिलने पर दुकानों पर छापेमारी और एफआइआर दर्ज कराने की कार्रवाई करें।

सचिव ने बताया कि कक्षा 9 की सारी पुस्तकें 212, कक्षा 10 की 126, कक्षा विज्ञान वर्ग 270, कला वर्ग 151, कक्षा 12 विज्ञान वर्ग 325 रुपये मात्र में बाजार में उपलब्ध हैं। सबसे अधिक मूल्य की कक्षा की गणित की किताब 76 रुपये और सबसे कम में कक्षा 9 अर्थशास्त्र की महज रुपये की है। पहले कक्षा व 12 विज्ञान की पुस्तकें निजी प्रकाशकों से 500 से 700 रुपये में बेची जाती थी, अब यही किताबें महज 38 से 76 रुपये के मध्य मिलेंगी।
अभिभावक कहां करें शिकायत

अभिभावक जिले के डीएम, डीआइओएस, जेडी और बोर्ड मुख्यालय पर यह शिकायतें दर्ज करा सकते हैं। ऐसे प्रकरण सामने आने पर तत्काल उसका संज्ञान लिया जाएगा। प्रदेश में मुहैया किताबें एनसीईआरटी से भी सस्ती हैं और किसी राज्य में इतनी कम कीमत पर किताबें उपलब्ध नहीं हैं।

सही किताबें कैसे पहचाने

पुस्तक के कवर पृष्ठ में माध्यमिक शिक्षा परिषद उप्र का लोगो लगा है और मोटे अक्षरों में उत्तर प्रदेश राज्य हेतु मुद्रित है। पहले पृष्ठ पर एनसीईआरटी की अनुमति व सहयोग से माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा प्रकाशित रायल्टी पेड बुक अंकित है। यदि यह अंकन किताब पर नहीं है तो उसे कतई न खरीदें।

दरों की सूची वेबसाइट पर

सचिव ने बताया कि पुस्तकों की दरों की सूची बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड है। सभी डीआइओएस, डीडीआर, जेडी को भी पुस्तकों के मूल्य की सूची भेजी है। इन्हीं के माध्यम से स्कूलों में पढ़ाई होगी। अब छात्र, अभिभावक, शिक्षक व प्रधानाचार्य सस्ती दरों पर किताबें खरीदने में सहयोग करें।में निजी प्रकाशकों की बेची जाती थी किताबवीं गणित की सबसे अधिक मूल्य की किताब 76 रुपयेवीं अर्थशास्त्र की बुक सबसे कम रुपये की

UP BOARD: किताबों के साथ गाइड बेचने पर दर्ज की जाएगी एफआइआर , किस कक्षा की किताब कितने में Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news