गुरुवार, 22 मार्च 2018

साक्षरता कर्मियों ने जिलाधिकारी से मांगा 38 माह का मानदेय: साक्षरता कर्मी एसोसिएशन

साक्षरता कर्मियों ने जिलाधिकारी से मांगा 38 माह का मानदेय: साक्षरता कर्मी एसोसिएशन

कौशांबी : साक्षरता कर्मी एसोसिएशन के सदस्यों ने बुधवार को कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन किया। डीएम को ज्ञापन देकर 38 माह से रुका मानदेय दिलाने की मांग की।
जिलाध्यक्ष दीपक कुमार मिश्र ने बताया कि जिला स्तर पर चार जिला समन्वयक, ब्लाक स्तर पर एक समन्वयक व हर ग्राम पंचायत स्तर पर दो प्रेरक की संविदा पर तैनाती है। साक्षर भारत मिशन योजना के तहत हुई तैनाती के बाद सभी से बीएलओ, राशन कार्ड सत्यापन, पल्स पोलियो अभियान आदि का कार्य भी इनसे कराया जाता है। सरकार की ओर से 31 दिसंबर 2017 को संविदा समाप्त कर दी गई थी। जिसे बाद में दोबारा बढ़ाते हुए 31 मार्च 2018 कर दिया गया, लेकिन अब तक 38 माह का समय बीत गया। किसी भी कर्मचारी को भुगतान नहीं किया गया। इस दौरान शिवबाबू, ज्ञानचंद्र शुक्ल, इंद्रजीत, धीरेंद्र, शिवचरन, योगेंद्र सिंह, अंजनी सिंह, जितेंद्र सिंह, धर्मेंद्र सिंह, बालकरन व शाशिकुमार ने डीएम को ज्ञापन देते हुए कहा कि सभी र्किमयों का नवीनीकरण कराते हुए उनके अवशेष मानदेय का भुगतान किया जाए। जिससे 25 मार्च को प्रस्तावित साक्षरता बुनियादी परीक्षा सुचारु रुप से संपन्न हो सके।

साक्षरता कर्मियों ने जिलाधिकारी से मांगा 38 माह का मानदेय: साक्षरता कर्मी एसोसिएशन Rating: 4.5 Diposkan Oleh: news